• 10 OCT 17
    शरद पूर्णिमा का गौमूत्र बिकेगा 22000 रुपये लीटर

    #गव्यशाला #नेत्रोषधि #चिकित्सा #पंचगव्य_उत्पाद #प्रशिक्षण

    गुणवत्ता से कोई समझौता ना करते हुए शरद पूर्णिमा की रात्रि को बनाई गई नेत्रोषधि

    जैसा की आप सभी जानते है की हमारा ध्येय है की गौमाता और उसके विज्ञान की समाज मे पुर्नस्थापना करना… जो की इस कलयुग मे गाय को विज्ञान ओर धन से जोड़े बिना संभव नही है… पर गाय को विज्ञान से जोड़ भी दें तो बात आ जाती है परिणाम पर.. ओर परिणाम गुणवत्ता के बिना आता नही… तो गुणवत्ता पर ध्यान देना गौमाता को बचाने के लिए अति महत्वपूर्ण है |

    IMG-20171006-WA0003इसी गुणवत्ता को ध्यान मे रखते हुए इस शरद पूर्णिमा को विशेष ग्रह नक्षत्रों में गुरुकुल में शिष्यों के साथ पूरी रात्रि जाग कर नेत्रौषधि का निर्माण किया गया… संलग्न चित्र में देखें की कैसे हमारे शिष्यों को हमने पूरी रात्रि परिश्रम करवाया… चित्र मे उंघते हुए छात्र…. 🙂

    विशेष बात यह है कि आँच इतनी हो की औषधि उबलनी नही चाहिए… ओर इसे बनाना है कंडे पर… अब कंडे पर आँच नियंत्रित करना अत्यंत दुष्कर कार्य है… इसी के साथ औषधि के लिए विशेष प्रकार के शहद ओर गुलाबजल को ढूँढना भी सरल नही है….

    खैर… गुणवत्तापूर्ण औषधि का मूल्य भी हम गुणवत्तापूर्ण ही रखते है | इसीलिए इस औषधि का मूल्य हमने 150 रखने का निर्णय किया है | वैसे तो बाज़ार मे आपको 50 रुपये मे भी नेत्रौषधि मिल जाएगी पर मेरा मानना है श्रेष्ठ उत्पाद के लिए कोई भी व्यक्ति उचित मूल्य देता ही है… फिर हल्के स्तर के उत्पाद निर्माण करने से गौमाता की प्रतिष्ठा को भी धक्का लगता है | ओर यही हम नही चाहते है… कम बनाओ पर अच्छा बनाओ… यही सिद्दान्त हम गव्यशाला मे शिष्यों को भी सिखाते है |

    औषधि के लाभ- नेत्र से संबंधित किसी भी रोग में रामबाण का कार्य करती है ओर चश्मा हटाने मे प्रचंड लाभकारी है |

    टिप्पणी- जिस व्यक्ति ने अपने नेत्रों का ऑपरेशन करवाया हो वह इसे कम से कम एक वर्ष तक प्रयोग ना करे
    ——————————————————————-
    नेत्रौषधि बनाने की विधि यहाँ देखें

    २०१८ में शरद पूर्णिमा २३ अक्तूबर रात्रि १०:३६ से आरंभ होकर २४ अक्तूबर रात्रि १०:१४ तक रहेगी | अत: आप २३ की रात्रि, २४ की सुबह एवम् रात्रि एवम् २५ की सुबह का गौमूत्र नेत्र औषधि बनाने के काम में ले सकते है |

    चमत्कार, गौमाता से 50000 रुपया प्रतिमाह कमाता है ये लड़का

    तो आओ… अब तो गाय से पैसा कमाना सींखे…

    [elfsight_popup id="2"]My content[elfsight_popup id="2"]
    Leave a reply →
  • Posted by Mahendra Parmar on October 12, 2017, 10:16 am

    Presehtly I have one gir cow and doing natyral farming with cow dubg and muta.

    Reply →
    • Posted by मनीष शर्मा on October 18, 2017, 2:59 pm
      in reply to Mahendra Parmar

      भाई, आप अभी प्राकृतिक कृषि मे क्या कर रहे है एवम् गाय का क्या उपयोग ले रहे है ?

      Reply →
  • Posted by वेद दाबडा on October 11, 2017, 11:19 am

    मेरे को पचगवय चिकतसा सिखनी है किरपा करके आप मेरी मदद करे मै विष मुकत खेती करता हु मै गोपलक हू

    Reply →

Leave a reply

Cancel reply
[elfsight_popup id="2"]My content[elfsight_popup id="2"]