गव्यरक्षक कार्यक्रम (Referral Program) की भूमिका

===========================
अब गाय के गोबर से सच मे मिलेगी लक्ष्मी
===========================
गव्यरक्षक बनने का सुनहरा अवसर
स्थान- केवल 101
===========================

1 ) पंचगव्य शिविर आयोजित करें ओर कमाएं रुपया 100000/- तक

2 ) गौशाला को बनवाएँ फैक्ट्री ओर कमाएं रुपया 50000/- तक

3 ) गव्य शाला में छात्र भेजें ओर कमाएं रुपया 5000/- तक

4 ) अर्कयंत्र की स्थापना करें ओर कमाएं रुपया 5000/- तक

5 ) अपने आस-पास के रोगी को पंचगव्य परामर्श दें ओर पाएं औषधियों एवम् उत्पाद पर *50%* तक की छूट *(केवल गव्यशाला द्वारा प्रमाणित गौशालाओं एवम् गव्यसिद्दों द्वारा)*

नमस्कार मित्रों,

बात सीधी मुद्दे की करते है…

जैसा की आप सभी जानते है की अंग्रेज़ी व्यवस्था मे जिस प्रकार पैसों की बंदरबांट हुई है उससे हमारी राष्ट्रीय संस्कृति ओर गाय बहुत पीछे छूट गई है | पूरा बाज़ार दलालों से अटा पड़ा है, हर चीज़ का सौदा हो रहा है, कमीशनबाजी चल रही है | इस विषय पर हमने कई ब्लॉग लिखे पर परिणाम अपेक्षित नही रहा |

गाय के परिप्रेक्ष्य मे बात करे तो एलोपेथि इतना पैसा बाँटती है की कोई चिकित्सा के लिए गाय के बारे मे सत्य जानते हुए भी नही बताता… क्यो..?? क्योंकि इस क्षेत्र मे पैसा उपर से नीचे तक बँटता नही | ओर बात बहुत सीधी है… यदि पैसा बँटेगा नही तो कोई गाय की ओर ध्यान देगा नही…

दुर्भाग्य यह है की गाय के पास समय बहुत कम है… प्रतिदिन लाखों गायों की चीत्कार इस वायुमंडल में गूंज-2 कर हमसे सहायता मांग रही है |

इसी विषय को ध्यान में रखते हुए गव्यशाला ने यह गव्यरक्षक कार्यक्रम (Referral Program) लॉंच किया है | जिसका सीधा से उद्देश्य है कम से कम समय में गौमाता के विषय को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना | इस योजना के माध्यम से हम चाहते है की इस भारतभूमि पर शीध्र से शीध्र गौमाता के वैज्ञानिक पक्ष का ज्ञान हो एवम् यह राष्ट्र इसे समझकर स्वयं एवम् गौमाता का रक्षण कर सके |

इस योजना के माध्यम से आप 2500/- से 100000/- मासिक तक कमा सकते है | कैसे…?? तो आओ जाने

अब आपको करना क्या होगा…??

अपने आस-पास होने वाले परिवर्तन को ध्यान से देखें | यदि आपका कोई मित्र, संबंधी, सहयोगी, परिवार, पड़ोसी में से कोई पंचगव्य के क्षेत्र मे अपना भविष्य देख रहा है तो तुरंत उसे गव्यशाला की योजनाओं के बारे में बताएं | गव्यशाला के द्वारा कई प्रकार के कार्य राष्ट्रहित में किए जा रहे है जिनका विवरण आप नीचे देख सकते है |

1 ) पंचगव्य प्रशिक्षण शिविर- यहां देखें
2 ) गौशाला का फैक्ट्री निर्माण- यहां देखें
3 ) अर्क बनाने का यंत्र- यहां देखें
4 ) पंचगव्य स्वास्थ्य परामर्श

अब आपके पास कई गौसेवा के लिए योजनाएं है, जिसमें पुण्य लाभ के साथ-2 धनवर्षा भी होगी | आप चाहें तो गव्यशाला में छात्र भेजें, किसी गौशाला में हमें बुलाएँ, प्रशिक्षण शिविर आयोजित करें, अर्कयंत्र स्थापना करवाएं या स्वास्थ्य जागरूकता फैलाएं… आपको निश्चित रूप से लाभ होगा ही |

यही सभी कार्य करने के लिए आपको गव्यशाला द्वारा टेलिफोनिक प्रशिक्षण दिया जाएगा एवम् संसाधन उपलब्ध करवाएं जाएंगे | अत: निश्चिंत रहें |

तो आओ आज ही गव्यरक्षक बनें

स्थान- केवल 101
नियम- यहां देखें

अधिक जानकारी के लिए आप 9928087811 पर संपर्क करें |

[elfsight_popup id="2"]My content[elfsight_popup id="2"]