पंचगव्य मलहम (त्वचा विकार)

घटक पदार्थ और उनकी मात्रा

  1. गोमूत्र घन : 200 ग्राम
  2. नीलाथोता : 200 मिलीग्राम
  3. छाछ : 20 मिलीलीटर
  4. गोमय रस : 20 मिलीलीटर
  5. घी : 20 मिलीलीटर
  6. दूध : 20 मिलीलीटर
  7. हल्दी : 20 ग्राम
  8. गेरू : 10 ग्राम
  9. नारियल तेल : 100 मिलीलीटर
फ्री डाउनलोड करें

देशी गाय से 1 लाख रुपया महीना कमाने के 9 सूत्र

बनाने की विधि

यह मलहम बनाने की विधि, गोमूत्र मलहम बनाने – जैसी ही है । केवल गोमूत्र घन द्रव होने पर उसमें छाछ, गोमय रस, घी, दूध एवं हल्दी -गेरू का मिश्रण इस क्रम से मिलाएं ।

पॅंचगव्य चिकित्सा मे डिप्लोमा

निशुल्क पॅंचगव्य उत्पाद निर्माण एवम् प्रक्षिक्षण शिविर

प्राकृतिक एवम् पॅंचगव्य चिकित्सा

गौ-नस्य

निशुल्क चिकित्सा

गव्यशाला

गौ आधारित वैदिक पंचगव्य गुरुकुल एवम् चिकित्सा केंद्र

गव्यशाला... एक ऐसा स्थान जहाँ आप सीखेंगे पंचगव्य के माध्यम से शरीर का रोग निदान एवम् उत्पाद निर्माण...

गव्यशाला
विधाधर नगर
जयपुर
राजस्थान- 302023 भारत