पंचगव्य मुख लेप (फेसपैक) (मुख की कांति के लिए)

घटक पदार्थ

  1. मुल्तानी मिट्टी : 1 किलोग्राम
  2. गोमुत्र : 100 मिलीलीटर
  3. गोमय रस : 100 मिलीलीटर
  4. छाछ : 100 मिलीलीटर
  5. मक्खन अथवा घी : 100 मिलीलीटर
  6. दूध : 100 मिलीलीटर
  7. केसर : 20 मिली ग्राम
पंचगव्य चिकित्सा प्रशिक्षण निशुल्क: पंचगव्य उत्पाद निर्माण शिविर पंचगव्य उत्पाद

बनाने की विधि

  1. केसर के धागों को पाव कटोरी दूध में रात भर भिगने दें । दूसरे दिन उसे उसी दूध में अच्छे से फेंट लें । अब यह घोल शेष दूध में मिला दें ।
  2. मुल्तानी मिट्टी कपड़े से छानकर उसमें दूध के अतिरिक्त सभी पदार्थ क्रमशः अच्छे से मिला लें ।
  3. अंत में केसर युक्त दूध मिलाएं ।
  4. अब पूरे मिश्रण को छाया में अच्छे से सुखा लें ।
  5. तत्पश्चात यह मिश्रण खलबत्ते में कूटकर उसका कपड़ा छान चूर्ण बना लें और कांच की बरनी में भरकर रख दें ।

पॅंचगव्य चिकित्सा मे डिप्लोमा

निशुल्क पॅंचगव्य उत्पाद निर्माण एवम् प्रक्षिक्षण शिविर

प्राकृतिक एवम् पॅंचगव्य चिकित्सा

गौ-नस्य

निशुल्क चिकित्सा

गव्यशाला

गौ आधारित वैदिक पंचगव्य गुरुकुल एवम् चिकित्सा केंद्र

गौ लोक धाम... एक ऐसा स्थान जहाँ आप सीखेंगे पंचगव्य के माध्यम से शरीर का रोग निदान एवम् उत्पाद निर्माण...

गव्यशाला
विधाधर नगर
जयपुर
राजस्थान- 302023 भारत