गव्यरक्षक बनें ओर कमाएं रुपया 2500/- से 100000/- मासिक

संजीवनी स्त्रियों के विकार

घटक पदार्थ और उनकी मात्रा

  1. गोमूत्र चंद्रमा अर्क : 1 लिटर
  2. देसी शक्कर : 300 ग्राम
  3. सूखी शतावरी : 50 ग्राम
  4. ताजी ब्राह्मी : 25 ग्राम
  5. सीताअशोक वृक्ष की छाल का मोटा चूर्ण : 50 ग्राम
  6. नींबू-सत (साइट्रिक एसिड) : आधी चुटकी
  7. खाने का प्राकृतिक पीला रंग : आधी चुटकी

बनाने की विधि

  1. चंद्रमा अर्क में शतावरी, ब्राह्मी, सीताअशोक छाल मिलाकर उबालें ।
  2. पश्चात देसी शक्कर मिलाने और आगे की सभी क्रियाएं बाल पाल रस बनाने के समान ही करें

3 प्रकार के पंचगव्य प्रशिक्षण शिविर

देशी गाय से 1 लाख रुपया महीना कमाने के 9 सूत्र

अर्कयंत्र खरीदें

Grass Fed Cow Ghee

प्राकृतिक एवम् पॅंचगव्य चिकित्सा

गौ-नस्य

निशुल्क चिकित्सा

गव्यशाला

गौ आधारित वैदिक पंचगव्य गुरुकुल एवम् चिकित्सा केंद्र

गव्यशाला... एक ऐसा स्थान जहाँ आप सीखेंगे पंचगव्य के माध्यम से शरीर का रोग निदान एवम् उत्पाद निर्माण...

गव्यशाला
विधाधर नगर
जयपुर
राजस्थान- 302023 भारत