गोमय मच्छर प्रतिबंधक धूपबत्ती

  1. घटक पदार्थ और उनकी मात्रा
    1. ताजा गोमय : 1 किलो
    2. कपूर : 100 ग्राम
    3. छाया में सुखाए निर्गुंडी के पत्ते : 100 ग्राम
    4. छाया में सुखाए नीम के पत्ते : 100 ग्राम
फ्री डाउनलोड करें

देशी गाय से 1 लाख रुपया महीना कमाने के 9 सूत्र

  1. बनाने की विधि
    1. कर्पूर, निर्गुंडी के पत्ते और नीम के पत्तों का कपड़ाछान चूर्ण बनाए ।
    2. ताजे गोमय में ये तीनो चूर्ण मिलाकर यह मिश्रण रोटी के आटे के समान गूंदे ।
    3. गुंदे हुए मिश्रण की आधा इंच मोटी नालियां बनाए तथा उन्हें काटकर उंगली की लंबाई की धूपबत्तीयां बनाएं । अथवा
    4. आधा इंच लंबी नली में गुंदा हुआ मिश्रण दबाकर भारें तथा एक ओर से धकेलें, इससे धूपबत्ती का आकार एक समान बनता है ।
    5. बनी हुई धूप बत्तियां छाया में सुखाकर पाकेट में भरकर रखें ।

पॅंचगव्य चिकित्सा मे डिप्लोमा

निशुल्क पॅंचगव्य उत्पाद निर्माण एवम् प्रक्षिक्षण शिविर

प्राकृतिक एवम् पॅंचगव्य चिकित्सा

गौ-नस्य

निशुल्क चिकित्सा

गव्यशाला

गौ आधारित वैदिक पंचगव्य गुरुकुल एवम् चिकित्सा केंद्र

गव्यशाला... एक ऐसा स्थान जहाँ आप सीखेंगे पंचगव्य के माध्यम से शरीर का रोग निदान एवम् उत्पाद निर्माण...

गव्यशाला
विधाधर नगर
जयपुर
राजस्थान- 302023 भारत