घी से बनने वाला गव्यनेत्रांजन (काजल)

घटक पदार्थ और उनकी मात्रा

  1. दारू हल्दी के टुकडे : 50 ग्राम
    दारु हल्दी के वृक्ष हिमालय में मिलते हैं इसकी लकड़ी जड़ी बूटियों की दुकान में मिलती है
  2. घी : लगभग 100 मिलीलीटर
पंचगव्य चिकित्सा प्रशिक्षण निशुल्क: पंचगव्य उत्पाद निर्माण शिविर पंचगव्य उत्पाद

बनाने की विधि

दारू हल्दी के टुकड़ों को काला पड़ने तक मन्द आंच पर घी में तले। इस कोयले को पत्थर के स्वच्छ खलबत्ते में अथवा मिक्सर में बहुत बारीक पीसकर डिब्बे में भर लें ।

पॅंचगव्य चिकित्सा मे डिप्लोमा

निशुल्क पॅंचगव्य उत्पाद निर्माण एवम् प्रक्षिक्षण शिविर

प्राकृतिक एवम् पॅंचगव्य चिकित्सा

गौ-नस्य

निशुल्क चिकित्सा

गव्यशाला

गौ आधारित वैदिक पंचगव्य गुरुकुल एवम् चिकित्सा केंद्र

गौ लोक धाम... एक ऐसा स्थान जहाँ आप सीखेंगे पंचगव्य के माध्यम से शरीर का रोग निदान एवम् उत्पाद निर्माण...

गव्यशाला
विधाधर नगर
जयपुर
राजस्थान- 302023 भारत