• 17 APR 17
    गौमाता के गोबर से घर बैठे मासिक 15000 कमाने का सुनहरा अवसर

    देशी गाय का गोबर देगा आपको घर बैठे रुपये… पर कैसे ?

    एक गाय प्रतिदिन 10 किलो गोबर देती है, ये प्रतिमाह हुआ 300 किलो गोबर, ये किलो गोबर आपको धरती पर गिरने से पहले ही हाथ में एकत्र करना है.. फिर इसे कड़ी धूप में सूखा कर कंडे बनाने है |

    इन कंडे को सूखने के बाद निश्चित आकृति में रखकर देशी गाय के घी से जलना है…. जलाने के बाद कोयला जो बचेगा उसे कूटकर बारीक छलनी से छान ले.. यही गोमय भस्म है |

    यह छानने के बाद भार में लगभग 30 किलो बैठेगी… अब इसका प्रति किलो मूल्य जान लें… इसका प्रति किलो मूल्य 600 से 1200 रुपये किलो है.. आप इसे 600 रुपये मानकर ही चलें |

    30*600= 18000 प्रतिमाह

    Next Panchgavya Workshop

    ये आपकी शुद्ध बचत है !

    नोट- ये भस्म सभी रोगों में लाभकारी है | इसको पानी में मिलाने से पानी में प्राणवायु का स्तर 46.6 प्रतिशत बढ़ जाता है | आज भारत के हर नगर ओर कस्बे में प्राणवायु की कमी है जिससे कॅन्सर, अस्थमा आदि अनेक रोग हो रहे है | इसी के साथ आरओ पानी फ़िल्टर का प्रचलन बढ़ा है जो की पानी के साथ उसमें उपस्थित खनिज तत्व भी निकल देता है जिससे की पानी विष बन जाता है |

    यह भस्म पानी में खनिज ओर प्राणवायु को पुन: लाने का कार्य करती है जो की आज जे समय की सर्वाधिक आवश्यकता है | ओर इनसे उत्पन्न रोगो में तो यह रामबाण है ही |

    गोमय भस्म बनाने की विधि

    पंचगव्य प्रशिक्षण के लिए यहाँ देखें

    अगले शिविर के लिए यहाँ देखें

    जो मित्र निशुल्क शिविर में आना चाहते है वे यहाँ फॉर्म भरें

    अधिक जानकारी के लिए यहाँ संपर्क करें

    ये तो हुई गोबर की बात अब इसके बाद तो बहुत कुछ है गौ माता के पास देने के लिए… कुल 128,000 रुपये का गणित है एक गौ माँ के पास मासिक

    आवश्यकता है गौ माता के नारो से बाहर निकलकर धरातल पर कुछ करने की… अँग्रेज़ी नौकरी का चक्कर छोड़ो… धरातल पर बिखरे अपने संसाधनो पर क़ब्ज़ा करो | अन्यथा आज इंजिनियर ओर एमबीए का हाल तो सबको पता ही है |
    धन के साथ राष्ट्र सेवा और गौ सेवा का सुनहरा अवसर

    अधिक जानकारी के लिए संपर्क

    आर्य मनीष
    9928087811

    Leave a reply →

Leave a reply

Cancel reply
Open chat
Powered by