गव्यरक्षक बनें ओर कमाएं रुपया 2500/- से 100000/- मासिक
    • 13 OCT 17
    गव्यशाला के 3 ओर 5 दिवसीय शिविर के 10 प्रमुख अंतर
    गव्यरक्षक बनें ओर कमाएं रुपया 2500/- से 100000/- मासिक

    मित्रों जैसाकी आप जानते हैकी गव्यशालाके द्वारा गुरु ओर गौ की कृपा से आरंभ किए गए पंचगव्य चिकित्सा एवम् उत्पाद निर्माण शिविर का संचालन सफलतापूर्वक किया जा रहा है | हमारे यहाँ 2 प्रकारके शिविर सफलतापूर्वक चलाए जा रहे है, एक है 3 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर जिसमें हम 10 प्रकारके पंचगव्य उत्पादोंका निर्माण सीखा रहे है ओर दूसरा मास्टर डिप्लोमा इन पंचगव्य (भारत सरकार से मान्यता प्राप्त) प्रशिक्षण |

    जाने- क्यो करें पंचगव्य डिप्लोमा ?

    हमारे द्वारा चलाए गए दोनो ही शिविरोंको उत्तम प्रतिसाद मिल रहा है परंतु पिछले कुछ समयसे छात्रोंकी माँग थीकी 3 दिवसीय शिविरमे समय कम होनेके कारण अन्य महत्वपूर्ण विषय समायोजित नही होपा रहे है जिनका पंचगव्य उत्पाद ओर चिकित्सासे महत्वपूर्ण संबंध है | इसी कारण हमने 3 दिवसीय शिविरको 5 दिवसीय करनेका निर्णय किया है |

    आइए जाने 3 दिवसीय ओर 5 दिवसीय शिविर के कुछ महत्वपूर्ण अंतर

    क्रमांक 3 दिवसीय शिविर 5 दिवसीय शिविर
    1) इस शिविर में हम केवल 10 उत्पादों का निर्माण ही सीखा पाते थे इसमें 10 उत्पादों के साथ-साथ 35 प्रकार की अन्य औषधियों का निर्माण भी सिखाया जाएगा
    2) इस शिविर मे हमे गाय ओर उसकी उर्जा पर चर्चा करने का समय नही मिलता इसमें यह समावेशित किया गया है
    3) गाय का अर्थशास्त्र नही आता | इसमें गाय का अर्थशास्त्र समायोजित है |
    4) गाय के अध्यमिक पक्ष पर चर्चा नही कर पाते इसमें यह समावेशित किया गया है
    5) इसमें औषध निर्माण से संबंधित नियम नही आते| इसमें यह समावेशित किया गया है
    6) पंचगव्यो का रखरखाव, जलीय ओर क्षारीय अंश की व्याख्या नही आती | इसमें यह समावेशित किया गया है
    7) पंचगव्य, पंचतत्व एवम् त्रिदोष संबंध नही पढ़ाया जाता | इसमें यह समावेशित किया गया है
    8) वात, पित्त ओर कफ के रोगों का वर्गीकृत साहित्य नही दिया जाता जो की अति महत्वपूर्ण है | इसमें यह भी उपलब्ध करवाया जाएगा
    9) मानव जीवनके 3 सुरक्षा चक्र समायोजित नही है | इसमें यह समावेशित किया गया है
    10) मनुष्य ओर गौमाता की चिकित्सा नही बताई जाती | इसमें यह समावेशित किया गया है

    प्रसन्नता का विषय यह है की अगले शिविर की दिनांक 10 नवंबर 2017 निर्धारित कर दी गई है, जिसकी सेवा राशि रुपये 5100 है | जो भी मित्र शिविर मे आना चाहते है वे इस लिंक 5 दिवसीय शिविर नामांकन फॉर्म पर जाकर फॉर्म भर सकते है एवम् फॉर्म भरने के पश्चात 2100 बैंक अकाउंट मे ट्रांसफर करवाकर अपना पंजीकरण करवाना अनिवार्य है | बैंक संबंधी जानकारी के लिए क्रमांक 9928087811 पर सीधा फोन या व्हाट्सएप्प के माध्यम से जानकारी ले सकते है |

    Next Panchgavya Workshop

    इतने अंतर पढ़ने के पश्चात भी किसी भाई को दोनो शिविरों में कोई संशय हो तो अंत मे दिए गए क्रमांक पर संपर्क कर सकता है |

    अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें-
    गव्यशाला
    दूरभाष- 9928087811
    व्हाट्सएप्प- 9928087811
    रामानंदाचार्य पंचगव्य गुरुकुल
    जिला-जयपुर, राजस्थान
    www.gavyashala.com
    info@gavyashala.com

    Leave a reply →

Leave a reply

Cancel reply