गव्यरक्षक बनें ओर कमाएं रुपया 2500/- से 100000/- मासिक
    • 30 NOV 16
    साइनस में क्या नही खाएँ आप ?
    गव्यरक्षक बनें ओर कमाएं रुपया 2500/- से 100000/- मासिक

    ० आपकी कुछ स्वस्थ आदतें शारीरिक समस्या के खतरे को दूर कर सकती है । कुछ लोगो में नियमित रूप से शराब की लत होती है, लेकिन इस साइनस की हालत में शराब जैसा मादक पदार्थ पीने के बारे में सोचना आप के लिए एक बड़ी समस्या होगी । आपको बाजार में उपलब्ध वसा और जंक खाने से अच्छा आपको स्वस्थ भोजन खाना चाहिए ।

    ० कैफ़ीन युक्त पेय पदार्थों से शरीर में पानी की कमी हो जाती है जो कि नाक को जाम कर सकता है । बंद नाक बीमारी को और भी ज़्यादा कष्टकारी बना देता है ।

    ० ठंडे पदार्थ ठंडी आइसक्रीम व कोल्डड्रिंक जैसे- संक्रमण को बढा कर दाढ़ और सिर में तेजी से दर्द पैदा कर सकते हैं । इससे आपको काफी तकलीफ हो सकती है ।

    ० डेरी प्रोडक्ट चाहे वह दूध, चीज या कोई अन्य डेरी प्रोडक्ट हो, वह आप के साइनस संक्रमण को बढा सकती है । हांलाकि इस बात पर अभी तक बहस चल रही है कि दूध से बने पदार्थों से संक्रमण बढ़ता है कि नहीं लेकिन बेहतर है कि आप इससे दूर ही रहें ।

    ० मसालेदार भोजन से भी जमाव पैदा होता है । कई मामलों में देखा गया है कि मसालेदार युक्त भोजन करने से नाक बहनी शुरु हो जाती है, जिससे म्यूकस निकल जाता है, लेकिन हर किसी के साथ ऐसा नही होता । अगर मसालेदार भोजन खाने से आपकी नाक जाम हो जाए तो उसे तुरंत खाना बंद कर दे ।

    संपर्क करें निशुल्क चिकित्सा परामर्श सरदर्द अनिद्रा माईग्रेन

    जाने- सिरदर्द क्या है ओर ये क्यूँ होता है ?

    Next Panchgavya Workshop

     

    तरल पदार्थों का अधिक सेवन

    अगर आप साइनस की समस्या से पीडित हैं तो इसका मतलब यह है की आपके शरीर में पानी की कमी है । आपको जल्दी ही इसे दूर करना होगा, वरना आपके सामने एक खतरनाक स्थिति होगी । इसके लिए आपको पर्याप्त पानी रोज़ पीना चाहिए नहीं तो एक बडी मुसीबतं हो सकती है । साथ ही साथ सास लेने में समस्या का सामना करना पड़ सकता है ।

    जाने- क्या साइनस भी दे सकता है सरदर्द ?

     

    अन्य उपाय

    आप विशेष रूप से अपने चेहरे और नाक के आस-पास की त्वचा को नाम रख सकते है | उसके लिए आप अपने चेहरे पर गर्म पानी की भाप ले सकते है, गर्म पानी मे तौलिया डुबोकर उससे अपने चेहरे को ढक लें है आपकी एक दिन में 5 से 10 मिनिट के लिए यह प्रयोग नियमित रूप से करना होगा ।

    जाने- 20 उपाय जो आपको तनाव से करेंगे मुक्त !

     

    भाप स्नान

    आपके शरीर का भाग कठोर होने को वज़ह से साइनस की समस्या बन गई है । इसकी सहयता के लिए एक ही रास्ता है, कि आप उस वातावरण को नम रखें आप एक गर्म भाप स्नान कर सकते हैं | आपको अच्छा लाभ होगा आप पार्लर में स्पा के लिए जा सकते है या घर पर ही भाप स्नान कर सकते है ।

    जाने- कही आपके सरदर्द का कारण तनाव तो नही ?

     

    नमक का पानी

    आमतौर पर नमक का उपयोग घर पर होता है, तो साइनस को समस्या के समाधान के लिए आप नमक और पानी से अपनी नाक धो सकते हैं । नमक नासिका से बैक्टीरिया और वायरस को दूर करने में सहायक होता है ।

    संपर्क करें निशुल्क चिकित्सा परामर्श तनाव खर्राटे नजला

    जाने- क्यो होता है सिरदर्द, कारण तथा उपचार ?

     

    खारे पानी से कुल्ला

    घर पर साइनस की समस्या के इलाज़ के लिए कुल्ला भी एक अच्छा माध्यम है । इसको हम खारे पानी से कुल्ला करना भी कह सकते हैं । आपको 10 मिनिट तक गर्म पानी और नमक के साथ कुल्ला शुरू करना है, अगर आपको आम सर्दी के प्रभाव में इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो यह एक अच्छा उपाय है | कुल्ले के माध्यम से यह काफी हद तक ख़त्म हो जायेगा । इसके प्रयोग से आप अपनी नाक के साथ अपने गले में भी अच्छी तरह से गर्माहट मिल जायेगी ।

    जाने- सिरदर्द दूर करने वाले 10 पेय पदार्थ

     

    नाक में खारी बूँद

    नमक के पानी में इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकते है जो काफी असरदार रहेगा नाक में बस आपको खारे पानी की कुछ बूंदे छोड़ने से साइनस की समस्या से राहत मिल जायेगी । यदि आप चाहते है तो फार्मेसी में इस तरह की तरल दवाई मिल सकती है, लेकिन यह घर पर भी आसानी से बनाया जा सकता है । खारी बूंद लेने से आपको नाक की रुकावट खोलने और साइनस को कम करने में मदद मिलेगी ।

    जाने- आपके सरदर्द का कारण कमजोर आँखे तो नही ?

     

    साइनस (सिरदर्द) का पंचगव्य उपचार

    ⁠⁠⁠गव्यर्षि गौ नस्यश

    मुख्य लक्षण– सिर में दर्द होना | यह स्वतंत्र व्याधि भी है ओर कुछ व्याधियों का लक्षण मात्र भी |

    मुख्य दोष– वात, पित्त, कफ

    प्रभावित संस्थान– वातनाड़ी संस्थान

    गौमूत्र की उपयोगिता– गौमूत्र मेधी है, इसलिए मस्तिष्कीय ज्ञान-तंतुओं को शक्ति देता है | दीपन ओर पाचन होने के कारण शरीर को बनाए रखता है | पित्त, तिक्त व उष्ण होने के कारण लाभ करके नाड़ी संस्थान तो ताक़त देने से सरदर्द को मिटाता है | नित्य गौमूत्र पीने से स्थाई रूप से सरदर्द नष्ट हो जाता है |

    गौ-नस्य की उपयोगिता– देशी गाय के दूध के कण अत्यंत सूक्ष्म होने के कारण उसके घी से बना गौ-नस्य मस्तिष्क के अतिसूक्ष्म नाड़ीयों में जाकर अवरोध को दूर कर सरदर्द को मूल सहित उखाड़ फेंकता है |

    Leave a reply →

Leave a reply

Cancel reply