आगामी सत्र- मास्टर डिप्लोमा इन पंचगव्य थेरेपी

आगामी सत्र दिनांक 5 जनवरी 2018 से जयपुर के रामानंदाचार्य पंचगव्य गुरुकुल में आरंभ होगा

पंचगव्य चिकित्सा का अधिकृत पाठ्यक्रम अब जयपुर मे …

हमारा लक्ष्य- गौमाता से स्वस्थ और समृद्ध भारत का निर्माण …

भारत सरकार के संसदीय बोर्ड से पंजीकृत पाठयक्रम

गौमाता के विज्ञान पर आधारित …

यह भी जाने- क्या है मास्टर डिप्लोमा इन पंचगव्य ?

‘‘मास्टर डिप्लोमा इन पंचगव्य थैरेपी’’  पाठयक्रम के लिए प्रवेश आमंत्रित है।

नया बैच- 5 जनवरी 2018 से प्रारंभ ….

” मास्टर डिप्लोमा इन पंचगव्य थेरेपी ” – MD Panchgavya

सैद्धांतिक विषय – चार
प्रायोगिक विषय – चार
न्यूनतम योग्यता- 10 वीं और 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण ,
शिक्षण माध्यम – हिन्दी

यह भी जाने- क्यो करें पंचगव्य डिप्लोमा ?

पंजीयन शुल्क – 27900 रु. (इसमें प्रवेश, भोजन व्यवस्था, ठहरने का शुल्क, परीक्षा शुल्क सम्मिलित है)

विशेष – पाठयक्रम में प्रवेश लेने वाले प्रत्येक विद्यार्थी को अध्ययन के लिए 5-5 दिन के 2 व्  7 दिनों का 1 प्रशिक्षण शिविरों में भाग लेना अनिवार्य है.

यह भी जाने- पंचगव्य पाठ्यक्रम में पढ़ाए जाने वाले विषय

आवेदन प्रक्रिया-

– शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र एवं अंकसूची, जन्म प्रमाण-पत्र एवं निवास प्रमाण-पत्र ( चार-चार प्रति )
– 12 पासपोर्ट आकार के रंगीन चित्र ।
– पंजीयन शुल्क ( नकद )

Note- यह डिप्लोमा भारत सरकार के उपक्रम भारत सेवक समाज द्वारा पंजीकृत है, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

यह भी जाने- पंचगव्य पाठ्यक्रम में पंजीकरण के लिए नामांकन फॉर्म

विषय की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें-
गव्यशाला
9928087811(व्हाट्सएप्प), 9928087811
www.gavyashala.com
info@gavyashala.com
रामानंदाचार्य पंचगव्य गुरुकुल,
जयपुर, जिला-जयपुर, राजस्थान

पॅंचगव्य चिकित्सा मे डिप्लोमा

निशुल्क पॅंचगव्य उत्पाद निर्माण एवम् प्रक्षिक्षण शिविर

प्राकृतिक एवम् पॅंचगव्य चिकित्सा

गौ-नस्य

निशुल्क चिकित्सा

गव्यशाला

गौ आधारित वैदिक पंचगव्य गुरुकुल एवम् चिकित्सा केंद्र

गव्यशाला... एक ऐसा स्थान जहाँ आप सीखेंगे पंचगव्य के माध्यम से शरीर का रोग निदान एवम् उत्पाद निर्माण...

गव्यशाला
विधाधर नगर
जयपुर
राजस्थान- 302023 भारत